सामाजिक मुद्दे

धार्मिक आधार पर नागरिकता संशोधन विधेयक आखिर मोदी सरकार क्यों पास करना चाहती हैं?

नरेश दीक्षित 24 मार्च 1971 की आधी रात से पहले वे या उनके परिवार के जो लोग भारत में रहते थे। सुप्रीम कोर्ट के आदेश के मुताबिक 31 जुलाई 2019 को एनआरसी...

Read more

अब बिहार की लीची को बदनाम करने का प्रयास?

नरेश दीक्षित बिहार के 12 जनपदों में फैले एक्यूट इंसेफेलाइटिस सिंड्रोम ( एइस ) दिमागी बुखार या 'चमकी' के कारण एक सैकड़ा से अधिक मासूम बच्चों की अकाल मौत का ठीकरा मुजफ्फरपुर...

Read more

लखनऊ की खूबसूरती को यूँ न बर्बाद करें, चलो नवाबों की नगरी को फिर से आबाद करें

स्पर्श दीक्षित (लेखक टी टाइम्स ग्रुप के विशेष सम्वादाता है) ब्रह्मांड में घूमता कालचक्र सदैव इतिहास का रचयता रहा  है। आदिगंगा के नाम से जानी जाने वाली गोमती नदी के किनारो की...

Read more

विकास के चक्रव्यूह में फंसा किसान!

नरेश दीक्षित संपादक समर विचार दिल्ली में आयोजित दो सौ किसान संगठनों का माच॔ राम लीला मैदान में जमा हो गया है। इस किसान आंदोलन को देश की विभिन्न 21 राजनैतिक पार्टियो...

Read more

आदिगंगा गोमती का हुआ पूजन, सजी दीपो की थाली,  आज मनाई गई  देव दीपावली

शास्त्रो में कार्तिक मास में पूर्णिमा का बड़ा महत्त्व बताया गया हैं। इस दिन सभी तीर्थों को विशेष महत्व दिया जाता है, आज के  दिन किया गया तीर्थ स्नान अनन्त पुण्य प्राप्त...

Read more

कैसा समाज बनाएंगे हम?

डॉ0 नीलम महेंद्र क्या कानून की जवाबदेही केवल देश के संविधान के ही प्रति है? क्या सभ्यता और नैतिकता के प्रति कानून जवाबदेह नहीं है? क्या ऐसा भी हो सकता है कि...

Read more

ध्वस्त होती देश की प्राथमिक शिक्षा प्रणाली!

नरेश दीक्षित देश में सर्व शिक्षा अधिकार कानून लागू हुए 8 वर्ष बीत गए है। विवादों में लिपटा यह कानून शिक्षा का मौलिक अधिकार नहीं देता वरन छीन रहा है। शिक्षा में...

Read more

अमृतसर रेल हादसा नहीं, दुर्घटना है?

नरेश दीक्षित (संपादक समर विचार) पंजाब के अमृतसर के निकट मानव निर्मित रेल घटना को हादसा बताकर केंद्र व राज्य सरकार अपना-अपना पल्ला झाड़ रहीं हैं। राजनैतिक दलों ने इस पर रोटियां...

Read more

बेगुनाह जनता का खून बहाने वाले देशो को क्या अंतरराष्ट्रीय कानून दंड दे पायेगा?

नरेश दीक्षित (संपादक समर विचार) विश्व की शांति एवं एक दुसरे राष्ट्रो के आपसी विवादो को शांति पूर्ण ढंग से हल के लिए बनाया गया अंतरराष्ट्रीय कानून एवं उनकी अदालत अमेरिका, ब्रिटेन...

Read more

समलैंगिकता क्या भारतीय समाज में मान्य होगी?

नरेश दीक्षित (संपादक समर विचार) भारतीय संविधान में 1950 में कह दिया गया था कि इस देश का हर व्यक्ति कानून की नजर में समान है, लेकिन यह इबारत सिर्फ संविधान की...

Read more
Page 1 of 3 1 2 3