गोरखपुर। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आज यहां दलाली और भ्रष्टाचार को लेकर कांग्रेस समेत विपक्ष को घेरा और पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी के एक बयान का उदाहरण देते हुए कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी भ्रष्टाचार पर लगाम लगाने में लाचार थे। वह खुद कहते थे कि केंद्र का भेजा एक रुपया का केवल 10 पैसा लाभांवितों तक पहुंच पाता है, 90 पैसे दलालों के पास पहुंच जाते थे।
योगी ने कहा कि दलाल, बिचौलिया व भ्रष्टाचारियों पर नकेल कसने में राजीव गांधी भले ही लाचार थे, लेकिन आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ ऐसा कुछ भी नहीं है। वह भ्रष्टाचार का दमन करने में लगे हैं। उन्होंने कहा कि आज केंद्र की ओर से भेजा एक रुपया का एक रुपया लाभान्वितों तक पहुचंता है। ये संभव हुआ क्योंकि प्रधानमंत्री मोदी हैं। कांगेस, सपा और बसपा सरकारों में यह सब संभव नहीं था।
उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी द्वारा जनधन योजना के तहत जीरो क्रेडिट पर करीब 36 करोड़ बैंक खाते खोलने की वजह से भ्रष्टाचार पर लगाम लग गया। सीएम योगी ने मंगलवार को तारामंडल स्थित सिद़ार्थपुरम में उत्तर प्रदेश कौशल विकास केंद्र और एनेक्सी भवन सभागार में प्रधानमंत्री श्रम योगी मानधन योजना का शुभारंभ किया।
इस मौके पर उन्होंने कहा कि जो कांग्रेस, सपा और बसपा के लिए असंभव था उसे प्रधानमंत्री मोदी संभव बना रहे हैं। आज मोदी सरकार बिना किसी भेदभाव के 100 से ज्यादा योजनाओं के माध्यम से समाज के हर तबके को लाभान्वित कर रही है।
उन्हांने योजना के बारे में बताते हुए कहा कि प्रदेश में असंगठित क्षेत्र के कामगारों की संख्या पांच करोड़ है। अभी 18 से 40 आयुवर्ग के 3.50 करोड़ पंजीकृत कामगारों को इसका लाभ मिलेगा। उन्होंने बताया कि 80 हज़ार कामगारों का इस योजना के लिए रजिस्ट्रेशन हो चुका है।
इसके अंतर्गत आशा बहुएं, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता, रसोइया, मनरेगा श्रमिक, पीआरडी जवान समेत सभी असंगठित क्षेत्र के कामगारों को भी इसका लाभ मिलेगा। उन्होंने पटरी व्यवसायियों, ठेला खोमचों वालों से इसके लिए श्रम विभाग में रजिस्ट्रेशन करा लेने का आह्वान किया। योगी ने कहा कि आज तक असंगठित क्षेत्र के कामगारों के लिए सामाजिक सुरक्षा की कोई योजना नहीं थी। यह योजना उन्हें सुरक्षा कवच प्रदान करेगा।
आर्थिक आरक्षण मोदी सरकार का एक और जुमला!
चिकित्सा शिक्षा मंत्री ने किया 424 करोड़ की 37 परियोजनाओं का किया लोकार्पण व शिलान्यास

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here