सात माह पूर्व पत्नी को रंगे हाथों पकड़ने पर पति ने की थी आत्महत्या
एटा। जनपद के थाना निधौली कला क्षेत्र के गांव पिपहरा में 8 नवंबर दीपावली की रात अपनी प्रेमिका से उसके घर मिलने आये प्रेमी ने प्रेमिका के घर न मिलने पर उसकी 4 वर्षीय पुत्री से दुष्कर्म के बाद गला घोंटकर हत्या कर दी थी।
वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक आशीष तिवारी ने प्रेस वार्ता में कहा कि दीपावली की रात को चार वर्षीय मासूम बालिका से दुष्कर्म के बाद हत्या करने वाला कोई और नहीं उसकी मां का प्रेमी ही था।
हत्यारे प्रेमी ने बताया कि दुष्कर्म के समय चिल्लाने पर मुंह दबाने से उसकी मौत हो गयी थी। पकड़े गए अभियुक्त टीटू पुत्र नत्थू ने बताया कि उसके बालिका की मां से काफी दिनों से अवैध संबंध थे, तथा वह उसके घर खूब आता जाता था। मेरे ऊपर दीपावली के चलते बालिका की मां से मिलने का भूत सवार था और वह मुझे मिली नहीं तो गुस्से में उसकी बेटी को ले गया और उससे दुष्कर्म किया।
प्रभारी निरीक्षक निधौली कला दिनेश कुमार वर्मा ने बताया कि निधौली कला के ग्राम पिपहरा निवासी महिला शामली के गांव के ही दो लोगों से अवैध संबंध थे। अवैध संबंधों के चलते तथा अपनी पत्नी को टीटू के साथ रंगे हाथ पकड लेने से उसके पति ने 7 माह पूर्व आत्महत्या कर ली थी। बावजूद इसके चाल चलन में कोई सुधार नहीं आया।
उसके बाद वह अपने दूसरे प्रेमी पन्नालाल के साथ भाग गई और उसी के साथ रह रही थी। इसी क्रम में जब वह दीपावली पर पुनः अपने गांव पिपहरा वापस आई तो पुराने प्रेमी टीटू के मन में उससे मिलने की बात आई और वह उससे मिलने दीपावली के दिन उसके घर जा पहुंचा जहां उसके तीन बच्चे अकेले घर में सो रहे थे।
उसके न मिलने से वह बौखला गया और उसने उसकी 4 वर्षीय बालिका को लाकर शामली को सबक सिखाने के उद्देश्य उसके साथ बलात्कार कर उसकी हत्या कर दी और शव को घर के बाहर फेंक दिया था। पुलिस तभी से घटना की जांच कर रही थी। जांच के बाद हुये खुलासे ने सभी को चौंका कर रख दिया है।
घटना की रिपोर्ट बलात्कार के बाद हत्या की थाना निधौली कला में मुकदमा अपराध संख्या 323/18 धारा 376 302 201 4 पास्को एक्ट में पंजीकृत कराई गई थी। इस पूरे घटनाक्रम में विशेष बात यह है कि शामली आज भी अपने दूसरे प्रेमी पन्ना लाल के साथ फरार है। पुलिस द्वारा उसकी गिरफ्तारी के प्रयास किये जा रहे हैं।एसएसपी ने टीटू को ग्राम निधौली कला की रफत नगर के पास से गिरफ्तार करने पर प्रभारी निरीक्षक दिनेश कुमार वर्मा सहित पुलिस टीम को बीस हजार रुपये पुरस्कार देने की घोषणा की है।
पुलिस वर्दी में घर आयीं बेटी बन गई इस गाँव की मिसाल
भारत में रोजगार की अनिश्चित स्थित!

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here