झांसी।  उत्तर प्रदेश में झांसी जिले के प्रेम नगर थाना पुलिस की कथित पिटाई से एक युवक की मौत के मामले में थाने का घेराव करने गए पूर्व केंद्रीय मंत्री प्रदीप जैन आदित्य सहित 250 प्रदर्शनकारियों के खिलाफ संगीन धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया है।

हालांकि प्रदीप जैन ने इसे राजनीतिक द्वेष का द्योतक बताया है। प्रेम नगर थानाध्यक्ष अवध नारायण पांडेय ने रविवार को बताया कि पांच जून को सुनील नामक युवक की मौत के मामले को लेकर पूर्व केंद्रीय मंत्री और कांग्रेस नेता प्रदीप जैन आदित्य के नेतृत्व करीब ढाई से ज्यादा प्रदर्शनकारियों ने थाने का घेराव कर सरकारी संपत्ति को नुकसान पहुंचाया था, साथ ही एक महिला सिपाही के साथ अभद्रता कर उसके गहने लूट लिए थे।
उन्होंने बताया कि प्रदीप जैन आदित्य व शहर कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष इम्तियाज हुसेन के अलावा करीब ढाई सौ प्रदर्शनकारियों के खिलाफ थाने में आईपीसी की धारा-147, 149, 152, 186, 189, 332, 341, 353, 395 और लोक संपत्ति निवारण अधिनियम की धारा-3 के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है। फिलहाल मामले की जांच की जा रही है, अभी किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई।
उधर, आदित्य ने इसे राजनैतिक द्वेष से दर्ज किया गया मुकदमा बताया है और कहा कि प्रदर्शनकारी शांतिपूर्वक घटना की जांच सीबीआई से कराने की मांग कर रहे थे। पुलिस ने सुनील साहू नामक युवक को पचास हजार की रिश्वत न देने पर पिटाई की थी, जिससे उसकी मौत हो गई है। इस प्रदर्शन में पूर्व मंत्री और भाजपा नेता रविन्द्र शुक्ल और भाजपा महानगर इकाई के अध्यक्ष प्रदीप सरावगी भी शामिल थे, पुलिस ने उनके खिलाफ मुकदमा क्यों नहीं दर्ज किया?
एक व्यक्ति एक वृक्ष योजना का हुआ शुभारम्भ, एक साथ रोपित हुए तीन सौ पौधे
रेलवे की विस्तार योजना में विस्थापित हुए 200 परिवारों को मिले आवास

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here