एटा। एटा पुलिस ने थाना कोतवाली देहात क्षेत्र के बेवर बैराज के नहर के पुल के समीप  हुई मुठभेड़ के दौरान बाबरिया गैंग के 25 हजार के इनामी बदमाश आविद को गिरफ्तार करने में कामयाबी पाई है। बदमाश के कब्जे से फिरोजाबाद से चोरी की एक लाइसेंसी रायफल, 05 कारतूस तथा एक बाइक बरामद हुई है।

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अखिलेश कुमार चौरसिया ने आज प्रेस वार्ता में बताया कि थाना कोतवाली देहात पुलिस और स्वॉट की संयुक्त टीम ने मुखबिर की सूचना पर थानाक्षेत्र के अमापुर रोड स्थित बेवर बैराज नहर पुल के पास शुक्रवार देर रात हुई मुठभेड़ में लूट व चोरी की घटनाओं में वॉछित चल रहे 25000 रुपये के पुरस्कार घोषित बदमाश आविद निवासी ग्राम ककथैल थाना अतरौली, अलीगढ़ गिरफ्तार किया है।
उसके पास से फिरोजाबाद से चोरी की गई रायफल, 4 जिन्दा व 1 खोखा कारतूस तथा एक मोटर साइकिल बरामद हुई है। एसएसपी ने बताया कि पूछताछ में आरोपी ने बीते साल कासगंज, फिरोजाबाद, मैनपुरी व एटा में हुई डकैती की घटनाओं में वह अपने साथियों के साथ शमिल था।

आरोपी ने बताया कि करीब आठ माह पहले लूट का सामान बेचते जाते वक्त अर्थरा नहर पुल हुई मुठभेड़ में उसके साथी जेपी उर्फ जयप्रकाश, कैलाश लोधी, गोविन्दा और चरण सिंह गिरफ्तार  हो गए थे। लेकिन उसके अलावा राजेश कुशवाहा, राकेश उर्फ राजेश बाबरिया, रामौतार कुम्हार, रामवीर, दयाराम बाबरिया, लल्ला बाबरिया तथा सुनील का मौके से भाग निकले थे।
एसएसपी ने बताया पूछताछ में आरोपी ने जानकारी दी है कि उसका साथी 25 हजार का इनामी व गिरोह का सरगना राजेश उर्फ राकेश उर्फ बबली बाबरिया निवासी निठारी थाना ककोड़ जिला बुलन्दशहर लखनऊ में हुई डकैती मामले में कृष्णानगर में हुई मुठभेड़ में गिरफ्तार हुआ है,
लेकिन उसने पुलिस को झांसा देने के लिए अपना नाम मनोज उर्फ छोटू निवासी थाना अलवर, राजस्थान बताया है। एसएसपी ने कहा कि इस सम्बन्ध में एसएसपी एसटीएफ और एसएसपी लखनऊ को सूचना भेजी गई है। उन्होने बताया कि पकड़े गए आरोपी के खिलाफ एटा और फिरोजाबाद में कई मुकमदे दर्ज हैं।
भाजपा शासित राज्यों में महिलाएं-बच्चियां सुरक्षित नहीं: अखिलेश
जन स्वाभिमान दिवस पर दिखेगी अपना दल एस की ताकत

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here