गर्भवती माताआें से ली कैल्शियम व आयरन की जानकारी

मिर्जापुर। जिलाधिकारी अनुराग पटेल शनिवार को प्रशासन-पोषण व पाठन अभियान के अन्तर्गत ग्राम पिपराडाड़ जाकर कुपोषित बच्चों के बारे में जानकारी ली। इस दौरान 0 से 3 वर्ष तक के बच्चों का वजन कराकर देखा। मौके पर उपस्थित गर्भवती माताओं का भी वजन कराया तथा उनसे आयरन व कैल्शियम की गोलियों के बारे में जानकारी प्राप्त की।

जिलाधिकारी स्कूल न जाने वाली किशोरियों से भी वार्ता की तथा इस अवसर पर कुपोषित बच्चे, गर्भवती माताओं तथा किशोरियों को पोषाहार भी वितरित किया। जिलाधिकारी ने जिला कार्यक्रम अधिकारी से कुपोषित बच्चों के बारे में जानकारी लेते हुये कहा कि नये बच्चों का भी सर्वे कराते रहे यदि कोई बच्चें का वजन मानक के अनुसार कम पाया जाता है उसे तुरन्त नियमानुसार पोषाहार तथा चिकित्सक की सलाह के अनुसार ईलाज कराया जाये।
जिलाधिकारी ने पोषण मिशन कार्य के पश्चात प्राथमिक विद्यालय में कक्षा 1 व 2 के बच्चों को गणित, सामान्य विज्ञान तथा हिन्दी की क्लास लेकर बच्चों को पढ़ाया। इस दौरान जहॉ जिलाधिकारी स्वयं बच्चों के साथ घुलमिल गये वहीं बच्चे भी जिलाधिकारी को अध्यापक की भूमिका में पाकर आनन्द दिखे। जिलाधिकारी द्वारा कक्षा 1 व 2 के कई बच्चों से 10 तक का पहाड़ा तथा 100 तक की गिनती को श्यामपट्ट पर लिखवाया।
जहॉ बच्चे भटक रहे थे वहॉ पर जिलाधिकारी ने उनको समझाया। जिलाधिकारी श्री पटेल बच्चे को श्यामपट्ट पर लिखकर 2 से 10 तक का पहाड़ा पढ़ाया तथा गिनती गिनाई। इस दौरान सामान्य ज्ञान में जिलाधिकारी द्वारा देश के राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री व प्रदेश के मुख्यमंत्री, सांसद व जिलाधिकारी तथा पुलिस अधीक्षक के बारे में जानकारी चाही तो किसी बच्चे के द्वारा नही बताया गया तो जिलाधिकारी स्वयं श्यामपट्ट पर सभी का नाम लिखकर पढ़ाया।
जिलाधिकारी ने उपस्थित अध्यापिकों से शिक्षा में और सुधार लाने का निर्देश दिया। स्कूल के क्लास में जिलाधिकारी को अध्यापक की भूमिका में देख ग्रामीण भी आश्चर्यचकित होकर क्लास में देखते रहे तथा कहा कि ऐसे अध्यापक यदि इस स्कूलों में मिल जाये निश्चित रूप से बच्चों की शिक्षा में सुधार आयेगा।
इसी स्कूल में जिलाधिकारी के निर्देश पर खण्ड विकास अधिकारी नीरज दूबे, जिला कार्यक्रम अधिकारी प्रमोद कुमार सिंह कक्षा 3 व 5 के बच्चों को पढ़ाया। जिलाधिकारी के निर्देश प्रशासन-पोषण-पाठन अभियान के अन्तर्गत शनिवार को कुपोषित गांव लिये सभी अधिकारियों के द्वारा अपने सम्बन्धित गांवों में जाकर प्राथमिक विद्यालय में बच्चों को पढ़ाया। इसी क्रम में मुख्य विकास अधिकारी प्रियंका निरंजन छानबे विकास खण्ड के नगवारी गांव में क्लास में बच्चों को पढ़ाया।
जिलाधिकारी का मुख्य उद्ेदश्य है कि प्राथमिक विद्यालय के स्कूलों में शिक्षा के स्तर को सुधारना। उन्होने कहा कि यदि अधिकारी स्कूल में जाकर माह में कम से कम 2 दिन स्कूल में जाकर पढ़ाये ताकि शिक्षा के स्तर में सुधार लाया जा सके। इसी क्रम में जिला पंचायत के अपर मुख्य अधिकारी विन्ध्याचल सिंह कुशवाहा ने भी शिवपुर जाकर प्राथमिक विद्यालय में बच्चां की क्लास ली।
अनुसूचित वर्ग की राजनीतिक भागीदारी सुनिश्चित कर रही मोदी-योगी सरकार: डा0 महेन्द्रनाथ
सावन से पहले 'सावनी' फुहार, बढ़े लोकल फाल्ट, गुल रही बिजली

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here