इलाहाबाद। इलाहाबाद जिले में तीन-तीन बेटियों को जन्म देनी वाली एक मां के उत्पीड़न का गंभीर मामला सामने आया है। तीन बेटियों को जन्म देने की वजह से ससुरालीजनों ने विवाहिता को घर से बाहर निकाल दिया है। खास बात यह है कि कई महीने के बाद महिला थाने में मुकदमा दर्ज होने पर भी पुलिस इस संबंध में कोई कार्रवाई नहीं कर रही है। जिससे पीड़ित महिला दर-दर की ठोकरें खाने को मजबूर है।
हालांकि मामले को जहां जिलाधिकारी ने गंभीरता से लिया है तो वहीं शमा को न्याय दिलाने के लिए हाईकोर्ट के अधिवक्ता आनन्द कुमार भी आगे आए हैं। मिली जानकारी के अनुसार, इलाहाबाद के करेली की रहने वाली शमा बानो की शादी करीब छह साल पहले फूलपुर तहसील के बाबूगंज में मोहम्मद फारुख के साथ हुई थी।
शादी के बाद सब कुछ ठीक चल रहा था। लेकिन इस बीच पति की मानसिक स्थिति खराब हो गई। जिसके बाद ससुरालीजनों का शमा के ऊपर अत्याचार शुरु हो गया। शमा के मुताबिक, बेटियों को जन्म देने की वजह से ससुराल के लोग उसे तरह-तरह से प्रताड़ित करते हैं। इसके साथ ही कई बार उसके साथ उन्होंने मारपीट भी की है। शमा ने कई बार पुलिस की मदद के लिए 100 नंबर पर फोन भी किया, लेकिन कोई खास मदद नहीं मिली।
अब शमा ने थक-हारकर 21 जून को महिला थाने में ससुरालियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया है। शमा की तीन बेटियों में एक बेटी गूंगी भी है। घर से बेघर हुई शमा के सिर पर तीन अबोध बच्चियों के पालने की भी जिम्मेदारी है। उधर इस मामले में जिलाधिकारी ने भी संवेदनशीलता दिखाते हुए पूरे मामले की वरिष्ठ अधिकारी से जांच के बाद पीड़िता को न्याय दिलाने का भरोसा दिलाया है।
रालोद ने योगी-मोदी सरकार को बताया किसान विरोधी, 4 को प्रदेशभर में प्रदर्शन
शिक्षा के मंदिर में प्रिंसिपल ने छात्रा से की अश्लीलता

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here