पुरानी रंजिश में दिया वारदातों को अंजाम

जालौन। उत्तर प्रदेश के जालौन जिले के थाना आटा के ग्राम सन्धी में बीते मंगलवार रात हुए दोहरे हत्याकाण्ड का खुलासा का आटा पुलिस ने सर्विलांस सेल एवं स्वाट टीम की मद्द से खुलासा कर दिया है। पुलिस ने वारदात को अंजाम देने वाले पिता और उसके तीन बेटों समेत चार लोगों को गिरफ्तार करते हुए आलाकत्ल बरामद कर लिया है। पुलिस का दावा है कि हत्या पुरानी रंजिश को लेकर की गई।

पुलिस का कहना है कि आरोपियों ने अपना जुर्म कुबूल कर लिया है। बता दें बीती 31 जुलाई की रात थाना आटा के ग्राम सन्धी में बदमाशों ने आजाद और जयदेवी की गोली मारकर हत्या कर दी थी। वहीं बदमाशों की फायरिंग में तीन लोग घायल हुए थे। इस मामले में पुलिस ने आईपीसी कीर धारा 302, 307 में  मुकदमा दर्ज कर आरोपियों की तलाश शुरू की थी।
वहीं डीजीपी ओपी सिंह ने भी इस घटना का संज्ञान लेते हुए लेकर घटना के अनावरण एवं समुचित कार्यवाही के निर्देश दिये गये थे। शुक्रवार को थाना आटा, सर्विलांस सेल व स्वाट की संयुक्त टीम ने वारदात में शामिल चार आरोपियों पिता अल्ला रख्खू और उसके तीन बेटों चांद बाबू उर्फ वीराना, आसिफ व सोहेल को ग्राम इटौरा के विवेकानन्द चौराहे से गिरफ्तार कर लिया।
पुलिस अधीक्षक अमरेंद्र प्रसाद सिंह ने बताया कि पुलिस टीम ने चार आरोपियों को गिरफ्तार किया। एसपी ने बताया कि आरोपियों ने घटना को अंजाम देना स्वीकार किया। आरोपियों के कब्जे व निशादेहीं पर घटना में प्रयुक्त 04 तमंचा 315 बोर, 10 जीवित कारतूस, 10 खोखा कारतूस, 02 मोटरसाईकिलें बरामद की गई है।
एसपी ने बताया कि पूछताछ में अल्ला रख्खू उर्फ पप्पू ने बताया कि उसके पिता बाबू खां और बम्हौरी निवासी मकसूद के पिता मंसूर खां आपस में साढ़ू थे। मंसूर ने जब अपने गांव में एक महिला की लूट के दौरान हाथ-पैर काटकर हत्या कर दी तो उसे बम्हौरी से भागना पड़ा। उसके पिता बाबू खां ने इस पर उसे संदी में शरण दे दी। लेकिन मंसूर खां ने विश्वासघात करके उसके मकान पर कब्जा कर लिया और एक दिन उसके पिता बाबू खां की हत्या कर दी।
पप्पू ने बताया कि पिता की हत्या का बदला लेने के लिए उसने मंसूर के जेल में होने के दौरान उसके 10 वर्षीय पौत्र साहिब को मार डाला। बदला लेने के लिए साहिब के पिता मकसूद ने पप्पू की अंधी बहन माजिदा और मां रसूलिन की हत्या कर दी। इस पर वह जेल से बाहर निकला और मकसूद की हत्या की ठानी। फिर बीती 29 जुलाई को मकसूद की गोली मारी लेकिन वह बच निकला।
आरोपियों ने बताया कि आजाद की हत्या भी चांद बाबू को थप्पड मारने का बदला लेने के लिए की गई। कोई पहचान न ले इसलिये रास्ते में जो भी मिला उसे गोली मार दी। एसपी ने बताया कि गिरफ्तार आरोपी पप्पू उर्फ अल्ला रख्खू के विरूद्ध जनपद जालौन के विभिन्न थानों पर हत्या, हत्या का प्रयास, लूट, अपहरण,चोरी व आर्म्स एक्ट आदि के 15, चॉद खॉ उर्फ वीराना पर जालौन के विभिन्न थानों पर हत्या, हत्या का प्रयास, अपहरण व आर्म्स एक्ट आदि के 9, सोहेल पर हत्या व हत्या का प्रयास आदि के 03 और आसिफ के खिलाफ विभिन्न थानों पर हत्या, हत्या का प्रयास आदि के दो मामले दर्ज हैं।
यूपी की जेलों में 3130 कैदियों की मौत, 98 ने की आत्महत्या
प्रदेश सरकार बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में राहत एवं बचाव कार्य में तेजी लाये: राजबब्बर

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here