नरेश दीक्षित

17 वीं लोकसभा चुनाव की घोषणा के बाद पहले चरण का मतदान हो जाने के बाद जब राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के तमाम चिन्तकों को यह भय सताने लगा कि मोदी सरकार की पांच साल की कथित उपलब्धियों के बूते उनके लिए चुनाव जीतना मुश्किल है।
सीआरपीएफ पर पुलवामा हमला, बालाकोट पर हवाई हमला,राष्ट्रीय सुरक्षा का शोर और ‘मोदी की सेना’ जैसी बयान बाजी के ज़रिए बनाईं गई हवा भी जब हवा हवाई हो गई तो पहले चरण के मतदान के बाद इस पर फिर से विचार किया गया कि इस लाइन पर चलते रहना कितना कारगर होगा।
इसलिए जहाँ विपक्षी दलों के नेताओं के खिलाफ प्रवत॔न निदेशालय और आयकर विभाग जैसी संस्थाओं का खुला उपयोग किया गया वहीं नग्न तरीके से सम्प्रदायिक भगवाकरण का सहारा लिया जाने लगा। एक तरफ इन संस्थाओं के देश भर में लगातार छापे तो दूसरी तरफ अली-बजरंगबली जैसी बयान बाजी।
दूसरे चरण के मतदान के ठीक पहले मालेगाँव आतंकी हमले में आरोपी तथा भगवा आतंक की प्रतीक प्रज्ञा ठाकुर को भोपाल से भाजपा का उम्मीदवार बनाया जाना चुनाव को साम्प्रदायिक बनाने और भगवा आतंक के बर्बर इतिहास पर सफेदी पोतने वाला क़दम है।
1947 में जम्मू-कश्मीर के भारत में विलय के पहले जम्मू में कत्ले-आम, फिर महात्मा गांधी की हत्या, इसके बाद दर्जनो साम्प्रदायिक दंगे, बाबरी मस्जिद ध्वंस, मुम्बई दंगा, 2002 में गुजरात जनसंहार,मक्का मस्जिद बम ब्लास्ट, अजमेर दरगाह बम ब्लास्ट, समझौता एक्सप्रेस विस्फोट, मालेगाँव बम विस्फोट, 2008 में चर्च पर हमला,
पास्टर ग्राहम स्टेन एवं उनके बच्चो को जिन्दा जलाया जाना तथा नरेंद्र दाभोलक, कम्युनिस्ट गोविन्द पनसारे, शिक्षा शास्त्री एम एम कुलबुरगी, पत्रकार गौरी लंकेश की हत्या, मोहम्मद अखलाक, गुलाम मोहम्मद, अजहर खान, पहलू खान, जुनैद अंसारी की लीचिंग इन सबको भुलाकर संघ परिवार ने प्रज्ञा ठाकुर को प्रत्याशी बनाया है जो संघ परिवार का नया आक्रामक चेहरा है।
इसके बाद भी संघ जब पांचवें चरण के मतदान समाप्त होने के बाद भी चुनाव जीतने के लिए मुतमईन नहीं तो छठें और अंतिम चरण के लिए संघ ने घबड़ा कर देश के पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गाँधी पर अपशब्द बोलने शुरू कर दिये हैं। संघ के प्रयासों के बाद भी देश का माहौल ऐसा नहीं बन पाया है कि मोदी दुबारा सत्ता में लौट पायेगें?
23 मई होगा सपा-बसपा गठबंधन का आखिरी दिन: उप मुख्यमंत्री
17 वीं लोकसभा का चुनाव!

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here