Tevar Times
Online Hindi News Portal

बिजली दरों में वृद्धि से सामने आया भाजपा का असली चेहरा : रालोद

0

लखनऊ। उ.प्र. विद्युत नियामक आयोग द्वारा गुरूवार को बिजली दरों में की गई वृद्धि की घोषणा पर राष्ट्रीय लोकदल (RLD) ने योगी सरकार को घेरा है। साथ ही कहा है कि सरकार बढ़ी बिजली  (Electricity) दर पर यदि सही निर्ण ल नहीं लेती तो पार्टी प्रदेशभर में धरना प्रदर्शन करेगी।

BJP's real face emerging from the rise in electricity rates: RLD
BJP’s real face emerging from the rise in electricity rates: RLD

पार्टी ने कहा है कि प्रदेश में नगर निकाय चुनाव सम्पन्न होते ही बिजली की कीमतों में होने जा रही बेतहाशा वृद्धि से भाजपा का असली चेहरा सामने आ गया है।

पार्टी के के प्रदेश अध्यक्ष डा मसूद अहमद ने कहा कि कल तक प्रदेश के मुख्यमंत्री और सहयोगी गरीबों, मजदूरों और किसानों की बदहाली पर घडियाली आंसू बहाते हुये नहीं थक रहे थे।

लेकिन अब उनकी सही तस्वीर जनता के सामने आने जा रही है जिसमें शहरी उपभोक्ताओं से लेकर ग्रामीण उपभोक्ताओं के साथ साथ गरीबी रेखा के नीचे जीवन यापन करने वाले लोग भी भाजपा की क्रूरता के शिकार होने जा रहे हैं।

डॉ अहमद ने कहा कि एक तरफ प्रदेश का ऊर्जा मंत्री यह घोषणा कर रहा है कि यदि किसी के यहां बिजली नहीं है तो कनेक्श उसके दरवाजे पर आयेगा और दूसरी ओर उसी मंत्री का बिजली विभाग सम्पूर्ण प्रदेश के नागरिको की जेब पर डाका डालने का काम करने जा रहा है।

उन्होंने कहा कि अंग्रेजों देश को सोने की चिड़िया समझ लूटा था और अब भाजपा की योगी सरकार भी अंग्रेजो की तरह यूपी को सोने की चिड़िया समझकर हर घर में जबरदस्ती डकैती डालने की योजना बना रही है।

डा अहमद ने कहा कि यूपी में किसानों के बिजली कनेक्शन का चार्ज भी 50 रूपया प्रति हार्स पॉवर बढाकर डेढ गुना किया जा रहा है और गरीबी रेखा के नीचे जीवन यापन करने वालों को रियायती दर पर मिलने वाली डेढ सौ युनिट प्रतिमाह को घटाकर सौ युनिट प्रतिमाह किया जा रहा है जो सरासर अन्याय है।

यह भी पढ़े:- लगभग तीस हजार मतदाताओं के नाम गायब!

रालोद (RLD) प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि बिजली की दरें वाणिज्यिक गतिविधियों पर बढाया जाना तर्कसंगत हो सकता है लेकिन आम जनता के ऊपर एकदम इतना बड़ा बोझ डालना न्यायसंगत नहीं प्रतीत होता है।

उन्होंने कहा कि यदि प्रदेश सरकार इस सन्दर्भ में उचित निर्णय नहीं लेती है तो रालोद (RLD) प्रदेश के गरीबों, मजदूरों और किसानों के साथ मिलकर धरना प्रदर्शन करने के लिए बाध्य होगी।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More