Tevar Times
Online Hindi News Portal

सुरक्षित ऑनलाइन सामग्री उपलब्ध कराना आज की जरूरत : राज्यपाल

0

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के राज्यपाल (Governor) राम नाईक ने आज राजभवन में आयोजित एक कार्यक्रम में यूनिसेफ द्वारा प्रकाशित ‘द स्टेट आफ वर्ल्ड चिल्ड्रन 2017ः चिल्ड्रन इन ए डिजिटल वर्ल्ड’ रिपोर्ट का विमोचन किया। यूनिसेफ की रिपोर्ट विश्व के 190 देशों में आज जारी हुई है।

Today's need to provide safe online content: Governor
Today’s need to provide safe online content: Governor

इस मौके पर राज्यपाल (Governor) ने कहा कि डिजिटल दुनिया श्राप है या वरदान, या इसका उपयोग कैसे करना चाहिए, इस दृष्टि से यह रिपोर्ट महत्वपूर्ण है।

डिजिटल वर्ल्ड से जो प्रगति हुई है उसको शब्दों में व्यक्त नहीं किया जा सकता है। हमें नई तकनीकों का प्रयोग देश को आगे बढ़ाने के लिए करना है।

उन्होंने कहा कि यूनिसेफ का प्रयास अभिनन्दनीय है कि वह पूरे विश्व के बच्चों के लिए सुरक्षित एवं सूचनाप्रद डिजिटल प्लेटफार्म उपलब्ध करा रहा है।

श्री नाईक ने कहा कि इन्टरनेट का प्रयोग करने वालों में बच्चों की संख्या एक तिहाई है। उन्हें डिजिटल दुनिया के खतरों से सचेत करते हुए सुरक्षित ऑनलाइन सामग्री उपलब्ध कराने की जरूरत है।

राज्यपाल (Governor) ने कहा कि डिजिटल उपयोग में उनका ज्ञान मोबाइल फोन के प्रयोग तक सीमित है। उन्होंने बताया कि 1954 में बीकाम परीक्षा पास करने के बाद 1955 में जब वे सरकारी सेवा में आये थे तब पहली बार फोन पर बात की थी। उन्होंने कहा कि यह दो पीढ़ियों के बीच का अंतर है।

कार्यक्रम में अपर पुलिस अधीक्षक डॉ अरविन्द चतुर्वेदी ने प्रोजेक्टर के माध्यम से जानकारी दी तथा ग्रामीण एवं शहरी क्षेत्र के छात्राओं ने डिजिटाईजेशन और उसके प्रयोग को लेकर अपने अनुभव साझा किये।

यह भी पढ़े:- सदन की कार्यवाही में संसदीय मर्यादा बनाए रखे सत्ता व विपक्षी दल : विधानसभा अध्यक्ष

इस अवसर पर विशिष्ट अतिथि के तौर पर राज्यपाल (Governor) की प्रमुख सचिव जूथिका पाटणकर, उत्तर प्रदेश में यूनिसेफ के प्रोग्राम मैनेजर अमित मेहरोत्रा, गीताली त्रिवेदी कम्युनिकेशन स्पेशलिस्ट, ग्रामीण एवं शहरी क्षेत्र के छात्र-छात्राएं व अन्य विशिष्टजन उपस्थित थे।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More