Tevar Times
Online Hindi News Portal

डीपीआरओ के उत्पीड़न से ग्राम पंचायत अधिकारी परेशान

0
  • उमर्दा ब्लाक से जबरन सदर ब्लाक में किया गया स्थानांतरण
  • स्वास्थ्य संबंधी परेशानी और सेवानिवृत्त होने में चार माह का हवाला देकर स्थानांतरण रोके जाने की रखी थी मांग
तिर्वा (कन्नौज)। उमर्दा ब्लाक से स्थानांतरित किए गए सदर ब्लाक में कार्यरत ग्राम पंचायत अधिकारी जगदीश प्रजापति ने बताया कि उनका स्थानांतरण सदर ब्लाक की ग्राम पंचायत (Gram Panchayat) कटरी अमीनाबाद समेत पांच ग्राम पंचायतों में जिला पंचायत राज अधिकारी इंद्रपाल सोनकर ने कर दिया था।
जिस पर ग्राम पंचायत (Gram Panchayat) अधिकारी जगदीश प्रजापति सेवानिवृत्त के आठ माह व स्वास्थ्य संबंधी परेशानियों का हवाला देकर जिलाधिकारी, सीडीओ व डीपीआरओ से स्थानांतरण रोके जाने की मांग की थी। जब प्रजापति की मांग पूरी नहीं हुई तो उन्होंने उच्च न्यायालय की शरण ली।
हाईकोर्ट ने जिलाधिकारी को इस संबंध में निर्णय लेने के लिए अधिकृत किया। जिस पर जिला पंचायत राज अधिकारी ने उक्त ग्राम पंचायत अधिकारी को फटकार लगाई और सभी ग्राम पंचायतों से मुक्त कर दिया। चार माह बाद जब ग्राम पंचायत अधिकारी ने फिर से ग्राम पंचायतें आवंटित करने का अनुरोध किया तो उन्हें फिर से तीन ग्राम पंचायतें सदर ब्लाक की आवंटित कर दी गईं।
ग्राम पंचायत अधिकारी जगदीश बाबू प्रजापति का आरोप है कि उसी दिन से उन से पचास हजार रुपए की मांग की जा रही है। मांग पूरी न होने पर निलंबन और फर्जी मुकदमें में फंसाने की धमकी दी जा रही है। श्री प्रजापति का कहना है कि उनके रिटायरमेंट में मात्र चार माह शेष बचे हैं और वह बेहद परेशान हैं।

यह भी पढ़े:- अब ‘मार्डन लुक’ में दिखेगा आगरा का चमड़ा उद्योग

उधर जिला पंचायत राज अधिकारी इंद्रपाल सोनकर का कहना है कि 26 जनवरी तक जनपद ओडीएफ होना है कि इसके बाद श्री प्रजापति का स्थानांतरण उमर्दा ब्लाक के लिए कर दिया जाएगा।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More