Tevar Times
Online Hindi News Portal

बस्ती की हर्रैया सीट पर राजकिशोर सिंह को मिली थी हार, इस बार भाजपा को मिलेगी कड़ी टक्कर

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव की सरगर्मियां एक बार फिर शुरू हो चुकी हैं. ऐसे में सभी राजनीतिक दल जोड़-तोड़ के समीकरण बनाने में जुटे हैं. हर्रैया विधानसभा क्षेत्र यूपी के पूर्व मंत्री राजकिशोर सिंह के नाते सूबे में चर्चित सीट मानी जाती है. इस सीट पर बदलते समीकरण के अनुसार अलग-अलग दलों को सफलता मिलती रही है. एक बार फिर 2022 के चुनाव के मद्देनजर विधानसभा क्षेत्र में राजनीतिक दल जनता का मन टटोलने लगे हैं.

क्षत्रिय वोट निर्णायक

हर्रैया विधानसभा क्षेत्र में अलग-अलग दलों से पूर्व मंत्री राजकिशोर सिंह 15 सालों तक विधायक रहे, लेकिन मोदी लहर में उन्हें अपनी सीट गंवानी पड़ी. जानकारों की मानें तो एक बार फिर राजकिशोर सिंह अपनी सीट वापस पाने के लिए अपनी ताकत लगा रहे हैं. इस सीट को ब्राह्मण और राजपूत बाहुल्य माना जाता है.

कुल मतदाता

हर्रैया विधानसभा में 2017 के मुताबिक कुल मतदाताओं की संख्या 308582 है. इसमें ब्राह्मण 93 हजार, ठाकुर 46 हजार और वैश्य मतदाता 15 हजार हैं. इस विधानसभा में क्षत्रिय निर्णायक भूमिका में माने जाते हैं.

मखौड़ा धाम आस्था का केंद्र

हर्रैया विधानसभा में बीते विधानसभा चुनाव में स्थानीय मुद्दों सहित मोदी लहर का प्रभाव देखने को मिला. इस विधानसभा में राष्ट्रीय राजमार्ग से गांव की जुड़ी सड़कों को लेकर बड़ा मुद्दा बनाया गया था. जिस पर भाजपा की सरकार ने काम किया है. स्थानीय व्यक्ति से मिली जानकारी के मुताबिक हर्रैया विधानसभा में भगवान श्रीराम के जन्म के लिए महाराज दशरथ द्वारा कराए गए यज्ञ से जुड़ा मखौड़ा धाम है. जो स्थानीय लोगों के आस्था का केंद्र है.

सियासी सफर

हर्रैया विधानसभा क्षेत्र में 1993 में जगदंबा भारतीय जनता पार्टी से विधायक रहे. 1996 में सुकल्प पांडे बहुजन समाज पार्टी से जीत दर्ज की. वहीं 2002 के विधानसभा चुनाव में राजकिशोर सिंह बहुजन समाज पार्टी का चेहरा बने और 34454 वोट पाकर जीत दर्ज की. 2007 में राजकिशोर सिंह ने फिर दल बदला और समाजवादी पार्टी से 46411 वोट पाकर विधानसभा पहुंचे. 2012 के विधानसभा चुनाव में फिर राजकिशोर सिंह ने बाजी मारी और 84400 वोट पाकर विधानसभा पहुंचे. 2017 के विधानसभा चुनाव में भाजपा की लहर में अजय कुमार सिंह ने तीन बार के विधायक राजकिशोर सिंह को 97014 वोट पाकर चुनाव हराते हुए अपनी जीत दर्ज की.

Comments are closed.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More