Tevar Times
Online Hindi News Portal

मुझ पर लगे भागीदार के इल्जाम को मैं ईनाम मानता हूं: मोदी

0
लखनऊ। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने शनिवार को लखनऊ में कहा कि मुझ पर एक इल्जाम लगा है कि मैं चौकीदार नहीं, भागीदार हूं। मैं इस इल्जाम को ईनाम मानता हूं। मोदी ने कहा कि मुझे गर्व है कि मैं भागीदार हूं गरीबों की तकलीफों का, मैं भागीदार हूं उस मां की पीड़ा का जो चूल्हे के धुएं में आंखें खराब करती है।
मोदी ने कहा कि मैं भागीदार हूं उस किसान के दर्द का जिसकी फसल सूखे या पाले में बर्बाद हो जाती है, मैं भागीदार हूं उस गरीब परिवार की पीड़ा का जो इलाज के लिए जमीन बेचने को मजबूर हो जाता था। मैं भागीदार हूं उस कोशिश का जो गरीबों को छत दे रही है।
मैं भागीदार हूं उस कोशिश का जो युवाओं को रोजगार के अवसर उपलब्ध कराए। उन्होंने कहा कि इससे पहले मुझपर इल्जाम लगाया था कि मैं चाय वाला हूं। प्रधान सेवक कैसे हो सकता हूं? प्रधानमंत्री आवास योजना (शहरी), अमृत योजना एवं स्मार्ट सिटी मिशन की तीसरी वर्षगांठ के अवसर पर इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में आयोजित कार्यक्रम में पीएम मोदी ने कहा कि मुझे अपने गरीब माँ का बेटा होने पर भी गर्व है।
प्रधानमंत्री ने कहा कि मैंने गरीबी को देखा और जाना है, जिया है, तभी तो मैं गरीब का दर्द जानता हूँ, और उसका भागीदार बना हूँ, वरना जाके पैर ना फटी बिवाई, सो क्या जाने पीर पराई। कांग्रेस का नाम लिये बगैर तंज कसते हुए मोदी ने कहा कि उन लोगों को तो सिर्फ अपना घर भरने से मतलब था।
प्रधानमंत्री ने कहा कि लखनऊ को कर्मभूमि मानने वाले अटल विहारी बाजपेई भले ही आज अस्वस्थ हैं, तथा पूरा देश उनके स्वस्थ होने की कामना करता हो, परन्तु देश में विकास मॉडल बनी अमृत योजना उन्ही से जुड़ी है। योजना का नाम ’अटल मिशन फॉर रीजुविनेशन एण्ड अर्बन ट्रांसफार्मेशन’ है।
पीएम ने कहा कि हमारी सरकार चाहती है कि जब आजादी के 75 साल पूरे हों तो कोई ऐसा गरीब ना हो जिसके सर पर छत न हो। यह अमृत योजना महिला सशक्तिकरण का उदाहरण भी है। उन्होंने कहा कि पीएमएवाई के तहत सभी मकान महिलाओं के नाम पर ही दिए जा रहे हैं। पीएम ने योगी सरकार की तारीफ़ करते हुए पिछली सरकार पर तंज भी कसा कि उनका वन पॉइन्ट प्रोग्राम था अपने बंगलों को सजाना।
पीएम ने कहा कि आज लागभाग 7.50 प्रतिशत की दर से विकसित होता भारत आगे और तेजी से प्रगति करेगा। इसी सोच के तहत 3 वर्ष पहले इन योजनाओं की नींव रखी गयी थी। यह योजनाएं 21वीं सदी के उस युवा के लिए हैं जो सिर्फ ’बेटर’ नहीं ’बेस्ट’ चाहते हैं। इन योजनाओं पर बड़ी तेज गति से कार्य चल रहा है।
इन मंसूबों के लिए तेजी से धन और संसाधनों को भी जुटाया जा रहा है। पुणे, अहमदाबाद और इंदौर ने अपने म्युनिसिपल बॉण्ड के माध्यम से लगभग 500 करोड़ रुपये जुटाए हैं। शीघ्र ही लखनऊ और गाजियाबाद भी अपना बॉण्ड जारी करने जा रहे हैं।
पीएम ने कहा कि हमने आवाहन किया ‘गैस सब्सिडी छोड़ने को’ सवा करोड़ लोगों ने छोड़ दी, रेलवे सब्सिडी छोड़ने की बात फ़ार्म में लिखी तो 40 लाख लोगों ने छोड़ दी, अभी-अभी 46 हजार लोगों ने सक्षम हो जाने के कारण अपनी आवास सब्सिडी भी छोड़ दी है। उन्होंने कहा कि यदि हम देशवासियों पर भरोसा करें तो वे हमारे भरोसे से आगे दिखाई दे जाते हैं।
इससे पूर्व पीएम मोदी ने आवास, पेयजल एवं बुनियादी सुविधाओं की 3397 करोड़ रुपये की 99 परियोजनाओं का लोकार्पण/शिलान्यास किया। वहीं पीएम ने इस अवसर पर प्रधानमंत्री आवास योजना (शहरी) के उत्तर प्रदेश के 60,426 लाभार्थियों के बैंक खाते में 606.85 करोड़ रुपये रिमोट का बटन दबाकर ऑनलाइन ट्रांसफर किए
तो उन्होंने लखनऊ के इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में देश भर से आए प्रधानमंत्री आवास योजना (शहरी) के लाभार्थियों से संवाद किया। मोदी ने तीसरी वर्षगांठ पर आयोजित प्रदर्शनी का भी अवलोकन किया। इस अवसर पर उ.प्र. के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अंगवस्त्र भेंट पीएम मोदी का स्वागत किया।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More