इलाहबाद। यूपी पीसीएस-2017 की मंगलवार को आयोजित परीक्षा की पहली पाली में एक केंद्र पर गलत पेपर बांटे जाने और अभ्यार्थियों के हंगामें के बाद उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग (यूपीपीएससी), इलाहाबाद ने आज होने वाली सामान्य हिंदी और निबंध दोनों पालियों की परीक्षा स्थगित कर दी। आयोग ने कहा है कि वह जल्द ही सामान्य हिन्दी और निबंध दोनों परीक्षाओं की नई तारीखों का ऐलान करेगा।
दरअसल मंगलवार को पीसीएस-2017 की मुख्य परीक्षा के दूसरे दिन सुबह 9.30 से 12.30 बजे की पहली पाली में सामान्य हिंदी और दोपहर दो से शाम पांच बजे की पाली में निबंध का पेपर था। लेकिन इलाहाबाद के राजकीय इंटर कॉलेज (जीआईसी) परीक्षा केंद्र में गलती से हिन्दी की जगह निबन्ध का पर्चा पहुंच गया, जिसे अभ्यर्थियों के बीच बांट भी दिया गया।

पेपर बंटते ही हड़कंप मच गया और परीक्षार्थियों ने परीक्षा का बहिष्कार करते हुए हंगामा किया। इस हंगामे के बीच निबंध का पेपर व्हाट्सएप पर वायरल हो गया। जिसके बाद कुछ ही देर पर सैकड़ो अभ्यर्थी पूरी परीक्षा निरस्त किए जाने की मांग को लेकर यूपीपीएससी के बाहर प्रदर्शन करने लगे और पुलिस ने उन पर लाठीचार्ज कर दिया। इसके साथ ही आयोग में बड़ी संख्या में फोर्स तैनात कर दी गई है।
वहीं आयोग के अध्यक्ष अनिरुद्ध यादव के आवास की सुरक्षा भी बढ़ा दी गई है। हंगामे और मामले की गंभीरता को देखते हुए आयोग में आपातकालीन बैठक बुलाई और मंगलवार को दोनों पालियों की परीक्षा निरस्त करने का निर्णय लिया।

इस सम्बन्ध में उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग के सचिव जगदीश ने कहा कि एक परीक्षा केंद्र में प्रथम पाली में त्रुटिवश सामान्य हिंदी के ज्रह पर निबंध का प्रश्नपत्र खोले जाने पर अभ्यर्थियों ने परीक्षा का बहिष्कार कर दिया। इसी वजह से आयोग ने प्रदेश भर में दोनों पालियों का पेपर निरस्त किए जाने का निर्णय लिया है। इन दोनों प्रश्नपत्रों की पुनः परीक्षा की तिथि शीघ्र घोषित की जाएगी। आगामी तिथियों की शेष परीक्षाएं पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार ही आयोजित की जाएंगी।
रामदेव के फूड पार्क को जमीन देगी योगी सरकार, कैबिनेट से मिली मंजूरी
भाजपा विधायक की गाड़ी को ट्रक ने चार बार मारी टक्कर, भाई समेत 04 घायल

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here